Pitr Shanti Poojan (पितृ शांति पूजन )

पितृ शांति पूजन (पितृ शिला उज्जैन)
 
कुंडली में दोष पितृ को अहम दोष माना जाता है। अगर पित्ररों का दाह-संस्कार सही ढंग से ना हो तो या जिनकी मुक्ति न हुई हो, और अकाल मृत्यु हो गई हो, वह नाखुश होकर हमें परेशान करते हैं। कुंडली में पितृ दोष तब होता है जब सूर्य, चन्द्र, राहु या शनि में दो कोई दो एक ही घर में मौजुद हो।
 
पितरों से अभिप्राय व्यक्ति के पूर्वजों से है I जो पित योनि को प्राप्त हो चुके है I ऎसे सभी पूर्वज जो आज हमारे मध्य नहीं, परन्तु मोहवश या असमय मृ्त्यु को प्राप्त होने के कारण, आज भी मृ्त्यु लोक में भटक रहे हैI अर्थात जिन्हें मोक्ष की प्राप्ति नहीं हुई है, उन सभी की शान्ति के लिये पितृ दोष निवारण उपाय किये जाते हैI ये पूर्वज स्वयं पीडित होने के कारण, तथा पितृ्योनि से मुक्त होना चाहते है, परन्तु जब आने वाली पीढी की ओर से उन्हें भूला दिया जाता है, तो पितृ दोष उत्पन्न होता है
 
सामान्यत: इस दोष से व्यक्ति को सामाजिक, आर्थिक, शारीरिक, पारिवारिक अशांति आदि का सामना करना पड़ता है और मनुष्य को असफलताएं मिलती है।
 
यह पूजन उज्जैन में सिद्ध वट पर पितृ शिला पर पूर्ण की जाती है, इसमें पितरो का पिंड दान हवन और पूजन होता है उनके निमित्त यह कार्य सम्पन्न किया जाता है, यह पूजन नासिक में गोमती तट और पुष्कर में भी सम्पन्न की जाती है।
 
Pitra Shanti Poojan (Pata Shila Ujjain)
 
A major flaw in the horoscope is also considered as defect. If the cremation of the pitra is not done properly or those who have not been liberated and have died due to premature death, they are disturbed and threaten us. Pitra defect in the horoscope occurs when two people in the Sun, Chandra, Rahu or Saturn are present in the same house.
 
The notion of pitra is from the ancestors of person. All the ancestors who are not in our midst today, but due to the inclination or untimely death, they are still wandering in the purgatory. That is, those who have not attended liberation, patriotism is taken for their peace. These ancestors want to be free from their own suffering, and from the family, but when they are forgotten by the coming generation, the pitra dosh arises.
Normally this person has to face social, economic, physical, family unrest etc.
 
This Poojan is done at Ujjain on Pure Resin on Pradha Vata, in which the work of Purus is done. This worship accomplished in Gomati coast and Pushkar in Nashik. 

Note: 

हम आपको पूजा के फोटो / वीडियो व्हाट्सएप द्वारा प्रदान करेंगे ।
We also provide photo/video of the photo perform on behalf you at Whatsapp. 

 
 
Price : Rs. 7100.00