Rudra Abhishek Rudra Paath Sahit (रूद्र अभिषेक रूद्र पाठ सहित)

रूद्र अभिषेक रूद्र पाठ सहित

रूद्र अर्थात भूत भावन शिव का अभिषेक, शिव और रुद्र परस्पर एक दूसरे के पर्यायवाची हैं। शिव को ही रुद्र कहा जाता है, क्योंकि रुतम्-दु:खम्, द्रावयति-नाशयतीतिरुद्र: यानि की भोले सभी दु:खों को नष्ट कर देते हैं।
 
हमारे धर्मग्रंथों के अनुसार हमारे द्वारा किए गए पाप ही हमारे दु:खों के कारण हैं।
 
रुद्रार्चन और रुद्राभिषेक से हमारे कुंडली से पाप कर्म जलकर भस्म हो जाते हैं और साधक में देवत्व का उदय होता है तथा भगवान शिव का शुभाशीर्वाद भक्त को प्राप्त होता है और उनके सभी मनोरथ पूर्ण होते हैं।
ऐसा कहा जाता है कि एकमात्र सदाशिव रुद्र के पूजन से सभी देवताओं की पूजा स्वत: हो जाती है।
"सर्वदेवात्मको रुद्र: सर्वे देवा: शिवात्मका:"
सभी देवताओं की आत्मा में रूद्र उपस्थित हैं और सभी देवता रूद्र की आत्मा हैं।
 
शास्त्रों में विविध कामनाओं की पूर्ति के लिए रुद्राभिषेक के पूजन के निमित्त अनेक द्रव्यों तथा पूजन सामग्री को बताया गया है, रुद्राभिषेक पूजन विभिन्न विधि से तथा विविध मनोरथ को लेकर करते हैं।
किसी खास मनोरथ कीपूर्ति के लिये तदनुसार पूजन सामग्री तथा विधि से रुद्राभिषेक की जाती है। यह अभिषेक कभी भी शिव वास देखकर किसी भी समय किसी भी शिव स्थान पर किया जाता है

 

लघु रूद्र 3100.00

दीर्घ रूद्र 5100.00

 
Rudra Abhishek with Rudra paath
 
Rudra means that Abhishek, Shiva and Rudra are synonymous with one another. Shiva is called Rudra, because- Rutam-dusam, Dada-Nayatiyatirudra: ie the naïves destroy all the sorrows.

 

According to our scriptures, the sins committed by us are due to our sorrows.

 

Rudracharna and Rudrabhishek are consumed by burning our sinful deeds by our horoscope and Shiva is born in the seeker and the devotee receives the blessings of Lord Shiva, and all their desires are fulfilled.

 

It is said that the worship of all the Gods is worshiped only by worshiping the Sadashiva Rudra.
"Sarvadevastakko Rudra: Survey Deva: Shivatma:"
Rudra is present in the spirit of all the deities and all the gods are the soul of Rudra.

 

For the fulfillment of various wishes in the scriptures, many substances and puja material have been told in the name of worship of Rudrabhishek; Rudrabhishek Pooja deals with various methods and various aspirations.
Rudra abhishek is done according to the worship material and method accordingly for the purpose of providing a special aspiration. This Abhishek can be done at any time by observing Shiva Vaas

 

Small Rudra 3100.00
Long Rudra 5100.00
  

Note: 

हम आपको पूजा के फोटो / वीडियो व्हाट्सएप द्वारा प्रदान करेंगे ।
We also provide photo/video of the photo perform on behalf you at Whatsapp. 

 
 
Price : Rs. 5100.00